Ashwagandha Benefits in Hindi

Ashwagandha Benefits in Hindi

What Is Ashwagandha? अश्वगंधा क्या है?

हेलो नमस्कार दोस्तों मैं आपका दोस्त निर्मल राठौड़ आज आपके लिए लेकर आया हूं एक ऐसी ही जानकारी जिसे आप जानना बहुत पसंद करेंगे दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं एक ऐसी जड़ी बूटी के बारे में जिसका नाम है अश्वगंधा / Ashwagandha, अश्वगंधा क्या है?

अश्वगंधा का प्रयोग किन किन रोगों के लिए किया जाता है? / For what diseases is ashwagandha used? और अश्वगंधा के बेनिफिट्स क्या है? (What are the benefits of Ashwagandha?) अश्वगंधा बेनिफिट्स इन हिंदी (Ashwagandha Benefits in Hindi) में जानेंगे तो  चलिए समय व्यर्थ ना करते हुए जान लेते हैं अश्वगंधा क्या है  और अश्वगंधा के फायदे क्या है अश्वगंधा का सेवन कर सकते हैं

अश्वगंधा (Ashwagandha) एक छोटा सदाबहार झाड़ी है। यह भारत ( India), और अफ्रीका ( Africa ) के कुछ हिस्सों में पाया जाता हैअश्वगंधा (Ashwagandha) के पौधे की जड़ और बेरी का उपयोग दवा बनाने के लिए किया जाता है।

अश्वगंधा का उपयोग ( Use of ashwagandha ) आमतौर पर तनाव के लिए किया जाता है। इसका उपयोग कई अन्य स्थितियों के लिए “एडेप्टोजेन” के रूप में भी किया जाता है, लेकिन इन अन्य उपयोगों का समर्थन करने के लिए कोई अच्छा वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है।

अश्वगंधा को Physalis alkekengi के साथ जोड़ा जाता हैइसलिए दोनों को विंटर चेरी के नाम से जाना जाता है। इसके अलावा, अश्वगंधा ( ashwagandha ) को अमेरिकी जिनसेंग, पैनाक्स जिनसेंग या एलेउथेरो के साथ भ्रमित ना हो

What are the benefits of Ashwagandha? अश्वगंधा के फायदे क्या हैं?

  1. अश्वगंधा के फायदे ( benefits of Ashwagandha)  अश्वगंधा का उपयोग ( Use Of ashwagandha ) ज्यादातर थकान व तनाव ( Fatigue and stress ) को दूर करने के लिए किया जाता है। और कुछ शोध से पता चलता है कि भोजन के बाद एक विशिष्ट अश्वगंधा जड़ (ashwagandha root) निकलने से दैनिक तनाव के लक्षणों में सुधार होता है।

2. अश्वगंधा की जड़ का अर्क लेने से 65-80 वर्ष की आयु के लोगों में well-being, नींद की गुणवत्त (Quality of sleep) और mental alertness में सुधार होता है।

3. कुछ शोध से पता चलता है कि अश्वगंधा / ashwagandha लेने से चिंताजनक मनोदशा ( Anxious mood ) के कुछ लक्षण कम हो सकते हैं

4. कुछ शोध से पता चलता है कि अश्वगंधा लेने से व्यायाम के दौरान शरीर को कितनी ऑक्सीजन का उपयोग कर सकता है। लेकिन यह ज्ञात नहीं है कि यह प्रदर्शन को बेहतर बनाने में मदद करता है।

5. कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी में बहुत लाभदायक है अश्वगंधा का इस्तेमाल। कई रिसर्च में यह बताया गया है कि अश्वगंधा कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है

6. अश्वगंधा में मौजूद ऑक्सीडेंट (oxidant) आपके Immune system को मजबूत बनाने मैं मदद करता है। जो आपको सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों से लडने की शक्ति प्रदान करता है।

7. अश्वगंधा मानसिक तनाव जैसी गंभीर समस्या को ठीक करने में मदद करता है। रिर्पोट के अनुसार तनाव को 60% तक अश्वगंधा के इस्तेमाल से कम किया जा सकता है।

8. महिलाओं में सफेद पानी की वजह से उनका शरीर कमजोर होने लगता है लेकिन अश्वगंधा के सेवन से महिलाओं को इस रोग से निजात मिल सकती है.

Side Effects Of Ashwagandha, अश्वगंधा के साइड इफेक्ट्स

1. Blood Pressure से पीड़ित लोगों को Doctor’s consultation से अश्वगंधा लेना चाहिए। जिन लोगों को BP decreases होता है उन्हें अश्वगंधा का सेवन नहीं करना चाहिए।

2. अश्वगंधा का ज्यादा उपयोग (Excessive use) पेट (stomach) के लिए हानिकारक हो सकता है। इसे लेने से दस्त (Diarrhea) हो सकता है। इसलिए, इसका उपयोग करने से पहले, आपको Doctor’s Consultation करना चाहिए और उसके बाद ही इसका सेवन करना चाहिए।

3. Use of Ashwagandha नींद के लिए अच्छा है। लेकिन लंबे समय तक इसका इस्तेमाल आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है।

4. अश्वगंधा की सही खुराक न लेने से आपको उल्टी और मतली (Vomiting and Nausea) जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

5. अश्वगंधा का अत्यधिक उपयोग भी आपके लिए हानिकारक हो सकता है। ज्यादा उपयोग से बुखार, और दर्द भी हो सकता है।


निर्देश

दोस्तों आपको यह पोस्ट हमारी कैसी लगी यदि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो प्लीज पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया है अश्वगंधा के बारे में अश्वगंधा क्या है  और अश्वगंधा के साइड इफेक्ट और अश्वगंधा के बेनिफिट्स क्या-क्या है के बारे में हमने आपको पूरी जानकारी दी है यदि पोस्ट पसंद आई हो तो प्लीज पोस्ट को शेयर करना ना भूले तो मिलते हैं अगली पोस्ट में तब तक के लिए धन्यवाद वंदे मातरम


Read More…


Patanjali Ashwagandha Benefits in Video

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *